ठंड से बचाव करने के लिए जीवन शैली में करें बदलाव ! - MyupChaars

ठंड के मौसम में होने वाली बीमारी ( Cold weather disease )

ठंड से कैसे करे बचाव ? How to avoid cold in Hindi?


ठंड का मौसम कुछ ही दिन बाद शुरू होने वाला है , यह मौसम प्रकृति के अनुसार परिवर्तन होता है जैसे -गर्मी से बरसात और बरसात के मौसम के बाद ठंड का मौसम आता है ,ठंड के शुरूआती मौसम में कई प्रकार की बीमारी भी साथ में लाता है यह बीमारी ज्यादातर बूढ़े और नवजात शिशु , गर्भवती महिला आदि सभी लोगों को सामान्य बीमारी जैसे - बुखार , सर्दी-जुखाम , सिर दर्द , खांसी , ठंड का लगना आदि सभी प्रकार की बीमारी हो सकती है !

ठंड से कैसे करे बचाव ?


ठंड के मौसम में होने वाली बीमारी निम्नलिखित प्रकार के होते है ?

What are the following types of diseases caused by cold weather in Hindi?


1. सर्दी-जुकाम 
2. सिर दर्द 
3. त्वचा का फटना 
4. गैस की बीमारी 
5. खांसी 
6. जोड़ों का दर्द 
7. बुखार 
8. सिर के बाल में रूसी 
9. संक्रमण की बीमारी 
10. उल्टी ( अपच ) 
11. जोड़ो का दर्द 
12. कफ का जमा 


1. सर्दी-जुकाम - सभी मौसम के अंत में और दूसरे मौसम के शुरूआती दौर में सभी व्यक्ति को नॉर्मल सर्दी-जुखाम होता है ! सर्दी-जुकाम होने के वैसे तो बहुत कारण होते है लेकिन मौसम के परिवर्तन होने पर सर्दी-जुखाम का होना आम बात है और सर्दी-जुकाम मौसम के परिवर्तन होने के बाद सर्दी-जुखाम के कारण जैसे - 1. रोग प्रतिरोधक क्षमता का कमजोर होना 2. मौसम के अनुकूल न होना 3. अचानक आए मौसम में परिवर्तन होना 4. वातावरण का प्रदूषित होना 5. शरीर अधिक कमजोर होना आदि सभी कारण होते है मौसम में अचानक बदलाव कारण !


ठंड के मौसम में होने वाले सर्दी-जुकाम लक्षण Cold-cold symptoms in Hindi. 


1. सिर भारी एवं दर्द करना  
2. नजला का निकलना  
3. नाक जाम होना  
4. खांसी आना  
5. शरीर दर्द  
6. जोड़ों में दर्द  
7. कफ निकलना 
8. बुखार होना 
9. आंखे लाल होना 
10. सीने में कफ का जमा होना 
11. गले में खराश 
12. छींक आना 
13. भारी आवाज एवं आवाज का फटा होना 
14. चक्कर आना आदि सभी प्रकार के लक्षण सर्दी-जुखाम में होते है !

ठंड के मौसम में होने वाले सर्दी-जुकाम का घरेलू इलाज Home remedies for cold and cold in Hindi.



1. ठंड के मौसम में होने वाले सर्दी-जुकाम का घरेलू इलाज गर्म पानी का अधिक सेवन करना चाहिए !
2. अदरक , काली मिर्च , गुड़ आदि सभी से बना ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए !
3. गर्म पानी में विक्स डालकर पानी का भाप लेना चाहिए !
4. शाम को सोते समय शहद का सेवन करना चाहिए !
5. हल्का भुजा हुआ अदरक का सेवन करना चाहिए !
6. मुरेठी का सेवन करे !
7. सरसों के तेल को गर्म करके पैरों और शरीर की मालिश करना चाहिए !
8. हल्दी और दूध का सेवन करने से सर्दी-जुकाम में राहत मिलती है !
9. लहसुन को भुजकर 3 टाइम खाने से सर्दी-जुखाम से राहत मिलती है !
10. सर्दी-जुकाम में संतरा का जूस पीना चाहिए !
11. गर्म पानी से सुबह-शाम कुल्ला करने से ठंड से राहत मिलती है !
12. शहद और तुलसी का सेवन करने से सर्दी-जुकाम से राहत मिलती है !
13. अंडे एवं मछली का जूस पीना चाहिए !


2. सिर दर्द - बदलते मौसम के शुरूआती दौर में सिर का दर्द करना आम बात समझते है, लोग यही अगर ठंड के मौसम में सिर दर्द करता है तो उसके अनेक प्रकार के कारण बताते है जैसे - ठंड का लगना , मौसम के अनुकूल न होना , रोग प्रतिरोधक क्षमता मौसम के अनुकूल न हो पाना और सर्दी-जुखाम से सिर का दर्द करना होता है !


बदलते मौसम में सिर दर्द का कारण क्या है ? What causes headaches in the changing season in Hindi?


बदलते मौसम में सिर दर्द का कारण अनेक प्रकार के होते है जैसे - 


1. मौसम के अनुकूल शरीर का न हो पाना 
2. प्रदूषण का स्तर बढ़ना 
3. रोग-प्रतिरोधक क्षमता का कमजोर होना 
4. शरीर में आयी कमजोरी के कारण सिर दर्द करना 
5. किसी बीमारी के कारण सिर दर्द एवं बुखार का होना 
6. तनाव के कारण सिर दर्द करना 
7. सर्दी-जुकाम के कारण सिर दर्द करना 
8. मानसिक पीड़ा के कारण सिर दर्द करना 
9. बदलते मौसम के उतार-चढाव के कारण सिर दर्द करना 


सिर दर्द का लक्षण क्या है ? What is the symptom of headache in Hindi?


सिर दर्द के लक्षण निम्नलिखित प्रकार के होते है !

1. सिर का भारी एवं सिर दर्द करना 
2. तनाव एवं पीड़ा होना 
3. बुखार का होना 
4. गैस की बीमारी होना 
5. कमजोरी होना 
6. रोग-प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होना 
7. शरीर दर्द 
8. किसी चीज से एलर्जी होना आदि सभी प्रकार के लक्षण है !


सिर दर्द का घरेलू इलाज क्या है ? What is the home remedy for headache in Hindi?


सिर दर्द का घरेलू इलाज निम्न प्रकार के होते है !

1. ग्रीन टी का सेवन करने से सिर का दर्द ठीक होता है !
2.  गर्म पानी का सेवन करने से सिर दर्द ठीक होता है !
3. सिर दर्द को ठीक करने के लिए ठंडा पानी से सिर को धुलने से सिर दर्द ठीक होता है !
4. चंदन की लकड़ी को रगड़कर सिर में लगाने से सिर दर्द ठीक होता है !
5. मछली का तीखा जूस पीने से सिर दर्द ठीक होता है !
6. विक्स को सूघने से सिर दर्द से राहत मिलती है !


3. त्वचा का फटना - त्वचा का फटना वैसे तो खासकर ठंड के मौसम में अधिक होता है लेकिन कुछ कारक ऐसे भी होते है जो त्वचा का फटना या शरीर में आयी कमी के कारण त्वचा का फटना होता है जैसे - प्रदूषण , सर्द हवा , शरीर में कमी , विटामिन सी की कमी आदि सभी कारण से त्वचा का फटना होता है ! 


त्वचा का फटना क्या कारण होता है ? What causes skin rash in Hindi?


त्वचा के फटने के निम्नलिखित कारण होते है जैसे -

1. ठंड का अधिक पड़ना ( सर्द हवा )
2. स्मोकिंग करना 
3. त्वचा का डॉयनेस बढ़ जाना 
4. विटामिन सी की कमी के कारण त्वचा सर्द के मौसम में अधिक फटता है !
5. प्रदूषण और धूल त्वचा पर जमने के कारण ठंड में त्वचा अधिक फटता है !
6. त्वचा पर नमी न होने के कारण त्वचा सर्द के मौसम में अधिक फटता है !
7. केमिकल से बने प्रोडक्ट का इस्तेमाल त्वचा पर करने से त्वचा का फटना होता !
8. अधिक केमिकल से बने सेनेटाइज का इस्तेमाल करने से त्वचा काली एवं त्वचा का फटना होता है !
9. ठंड के मौसम में एलर्जी होने के कारण त्वचा का अधिक फटना होता है !
10. त्वचा इन्फेक्शन के कारण त्वचा का फटना होता है !

त्वचा फटने का लक्षण क्या होता है ?

What is the symptom of skin rash in Hindi?

त्वचा के फटने पर निम्नलिखित प्रकार के लक्षण होते है !

1. त्वचा के फटने से रक्त का निकलना 
2. त्वचा में संक्रमण होने का अधिक खतरा होता है 
3. त्वचा पर धूप एवं धूल लगने से त्वचा का फटना होता है !
4. त्वचा के फटने के स्थान पर त्वचा का कालापन होना !
5. त्वचा का रूखापन अधिक होने से त्वचा का फटना होता है !
6. त्वचा पर खजुली होना 

सर्दी का मौसम में त्वचा के फटने से त्वचा का घरेलू इलाज !

Home remedy for skin due to skin rupture during winter season in Hindi.

सर्द के मौसम में त्वचा के फटने का घरेलू इलाज निम्नलिखित प्रकार के होते है जैसे - 

1. सर्दी के मौसम में त्वचा के फटने पर त्वचा पर दूध की मलाई का इस्तेमाल करने से त्वचा मुलायम और सर्दी के मौसम में फटने वाले त्वचा से छुटकारा दिलाती है !
2. फटे हुए त्वचा पर दही का इस्तेमाल करने से दर्द से राहत और त्वचा मुलायम होती है !
3. शहद का इस्तेमाल दिन में 2 बार करने से त्वचा मुलायम और ठीक होती है !
4. त्वचा पर एलोवेरा के इस्तेमाल करने से त्वचा पर होने वाले सभी प्रकार की समस्या ठीक होती है !
5. बादाम का तेल इस्तेमाल करने से त्वचा का फटना एवं त्वचा पर सर्द के मौसम में होने वाले सभी प्रकार की समस्या को ठीक करने में मदद करता है !
6. विटामिन सी युक्त फल का सेवन खाने में और इसका इस्तेमाल त्वचा पर लगाने से त्वचा का डॉयनेस और त्वचा का फटना एवं सभी प्रकार की समस्या ठीक होती है !
7. अंडे की सफेदी जर्दी त्वचा पर लगाने से त्वचा की सभी समस्या ठीक होती है !
8. त्वचा पर पपीते के एक बार के इस्तेमाल करने से त्वचा मुलायम एवं सभी प्रकार की समस्या ठीक होती है !
9. त्वचा पर बेसन , नींबू , हल्दी के इस्तेमाल करने से त्वचा मुलायम एवं सभी प्रकार की समस्या ठीक होती है !

4. गैस की बीमारी - ठंड के मौसम में अधिक खान-पान और जीवन शैली के बदलाव में पाचन शक्ति का काम न करना ही गैस की बीमारी का जन्म एवं कारण होता है !

गैस बीमारी का कारण क्या है ? What causes gas sickness in Hindi?


ठंड के मौसम में गैस बीमारी के निम्नलिखित प्रकार के कारण होते है जैसे - 

1. अधिक भोजन का सेवन करना ही गैस बीमारी का कारण होता है !
2. भोजन में अधिक मसाले का सेवन करने से गैस बीमारी का जन्म होता है !
3. पाचन शक्ति के कमजोर होने से गैस की बीमारी होती है !
4. जंक फूड का सेवन करने गैस की बीमारी होती है !
5. अम्लीय भोजन का सेवन करने से पेट में गैस बनता है !
6. ठंड के दिन में लोग 2 से 3 दिन बाद का भोजन का सेवन करने से पेट दर्द, गैस की बीमारी होती है !
7. ठंड के समय में योग न करने से गैस की बीमारी होती है !

गैस बीमारी का लक्षण क्या है ? What is the symptom of gas sickness in Hindi?


गैस बीमारी के लक्षण निम्नलिखित कई प्रकार के होते है जैसे - 

1. सुबह पेट का फूलना और पेट का साफ न होना !
2. पेट में एक ही जगह एवं अन्य जगह चुभन और दर्द करना !
3. सिर दर्द करना !
4. कमजोरी महसूस करना !
5. पूरा दिन आलस में रहना !
6. सीने में दर्द एवं ब्लड प्रेशर कम ज्यादा होना !


ठंड के मौसम में गैस की बीमारी का घरेलू !

Domestic gas disease in cold weather in Hindi.

गैस के बीमारी का घरेलू इलाज निम्नलिखित प्रकार का होते है !

1. अजवाइन और साथ में गुड़ का सेवन करने से गैस की बीमारी ठीक होती है !
2. मूली और काला नमक को मिलाकर खाने से गैस ठीक होती है !
3. बारीक पीसकर अदरक के टुकड़े को खाने से गैस की बीमारी से छुटकारा मिलती है !
4. गैस की बीमारी में सलाद अधिक मात्रा में खाने से गैस की बीमारी ठीक होती है !
5. नींबू और पानी का घोल बनाकर पीने से गैस से छुटकारा मिलती है !
6. ईख का रस पीने से गैस से राहत मिलती है !
7. सेब के बने सिरके का सेवन करने से गैस की बीमारी ठीक होती है !
8. ईख से बने सिरके का सेवन करने से गैस की बीमारी ठीक होती है !
9. आंवला का जूस पीने से गैस की बीमारी ठीक होती है !


4. खांसी आना - ठंड के मौसम में कई प्रकार की बीमारी ठंड के शुरूआती दौर में ही शुरू हो जाती है इसी प्रकार यदि किसी व्यक्ति का रोग-प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है और वह ठंड के प्रति सतर्कता नहीं बरतता है तो उसे सर्दी-जुखाम के साथ खांसी भी आने लगती है ! जिससे खांसी आने पर कई प्रकार की समस्या भी होती है जैसे - सीने में तेज दर्द , शरीर दर्द , सिर दर्द आदि सभी प्रकार की समस्या होती है !


ठंड के मौसम में खांसी आने का क्या कारण है ?

What causes cough in cold weather in Hindi?

ठंड के मौसम में खांसी बीमारी के निम्नलिखित प्रकार के कारण होते है जैसे - 

1. मौसम के बदलाव के कारण शरीर का तापमान मौसम के अनुकूल परिवर्तित न हो पाना !
2. ठंड और गर्म मौसम से शरीर उस अवस्था में न ढलने से खांसी की बीमारी और सर्दी-जुखाम भी होती है !
3. खांसी की बीमारी इन्फेक्शन एवं बैक्टीरिया से यह बीमारी फैलती है !
4. कोरोना वायरस के पीड़ित व्यक्ति के द्वारा यह बीमारी ( खांसी ) होती है !
5. वातावरण का प्रदूषित होना !

ठंड के मौसम में होने वाले खांसी का घरेलू इलाज !

Home remedy for cold weather cough in Hindi.

सर्दी जुखाम एवं खांसी आने पर इसका घरेलू इलाज निम्नलिखित प्रकार के होते है ! 

1. ग्रीन टी ( तुलसी , अदरक , काली मिर्च ) से बने चाय का सेवन करने से सर्दी-जुखाम और खांसी ठीक होती है !
2. शहद और अदरक का सेवन करने से सर्दी-जुखाम और खांसी ठीक होती है !
3. गर्म पानी में एक चुटकी नमक डालकर गरारा करने से खांसी ठीक होती है !
4. आलू को भुजकर खाने से खांसी ठीक होती है !
5. गर्म पानी का सेवन करने से खांसी ठीक होती है !
6. दूध और एक चमच हल्दी डालकर पीने से सर्दी-जुखाम और खांसी की बीमारी ठीक होती है !
7. भुजा हुआ अदरक का सेवन करने से खांसी ठीक होती है !

6. जोड़ों का दर्द - जोड़ो के दर्द से तात्पर्य यह है की शरीर के जोड़ो में खिंचाव , तनाव , अकड़न आदि सभी प्रतिक्रिया जोड़ों के दर्द के साथ होती है जिससे जोड़ों में तेज दर्द एवं असहनीय दर्द होता है ! जोड़ों में दर्द अधिकतर ठंड के मौसम में अधिकतर महिलाये और 45 साल से ऊपर वाले वर्ग को जोड़ों में दर्द हर समय बना रहता है ! जोड़ों के दर्द का कारण एवं घरेलू उपचार क्या है नीचे लिखे लेख मायउपचार के द्वारा इस लेख को पढ़कर अभी जानते है !

ठंड के मौसम में जोड़ो के दर्द का कारण क्या है ?

What causes joint pain in cold weather in Hindi?

ठंड के मौसम में जोड़ों के दर्द का कारण निम्नलिखित प्रकार के होते है जैसे -

1. चोट लगने के कारण जोड़ों में तेज दर्द एवं जोड़ों का काम न करना !
2. जोड़ों में आर्थराइटिस होना !
3. शरीर का अधिक वजन बढ़ने के कारण जोड़ों का दर्द होना !
4. घुटने का कार्टिलेज के घिसने के कारण जोड़ों में तेज दर्द होना !
5. ठंड के मौसम में जोड़ों के दर्द का अकड़न होना !
6. जोड़ों के दर्द में सूजन होना !
7. जोड़ों में मोच लगने के कारण दर्द करना !


ठंड के मौसम में होने वाले जोड़ों के दर्द का घरेलू इलाज !
Home remedies for cold weather joint pain in Hindi.


ठंड के मौसम में होने वाले जोड़ों के दर्द का घरेलू इलाज निम्न प्रकार के होते है जो जोड़ों के दर्द के लिए अधिक फायदेमंद होता है !

1. जोड़ों के दर्द को दूर करने के लिए एक गिलास दूध और एक चमच हल्दी पाउडर डालकर पीने से जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है !
2. जोड़ों के दर्द पर मछली के तेल से मालिश करने पर जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है !
3. सरसों के तेल को गर्म करके जोड़ों पर मालिश करने से जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है !
4. जोड़ों के दर्द को कम करने के लिए लौंग के तेल से मालिश करने पर दर्द कम होता है !
5. योग करने से जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है !
6. सरसों के तेल ,अजवाइन का इस्तेमाल जोड़ों के दर्द पर करने से जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है !

ठंड से बचाव करने के लिए जीवन शैली में करें बदलाव !

Make this change in lifestyle to prevent cold.


1. ठंड से बचाव के लिए गर्म कपड़े का इस्तेमाल करें !
2. सुबह उठते ही हल्की व्यायाम या योग को अपनाये !
3. गर्म पानी का सेवन करे !
4. खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए !
5. धूप में अधिक समय तक रहना चाहिए !
6. गर्म पदार्थ का सेवन खाने में करना चाहिए !
7. घर पर ही वर्कआउट करके ठंड से बचाव किया जा सकता है !
8. गर्म तेल का इस्तेमाल नाहने के बाद शरीर पर लगाए !
9. मछली एवं अंडे का इस्तेमाल खाने में अधिक करना चाहिए !

ठंड से पूछे जाने वाले सावल-जवाब ( FAQ Related Pneumonia in Hindi)

1. ठंड के मौसम में त्वचा शुष्क ( ड्रायनेस ) क्यों हो जाती है ?

ठंड के मौसम में सभी प्रकार की त्वचा रूखी एवं डॉयनेस हो जाती है क्योंकि ठंड के मौसम में त्वचा अधिक सिकुड़ जाने से त्वचा की रोम छिद्र बंद हो जाती जिससे त्वचा का तापमान कम हो जाती है और शरीर से पसीने का न निकलने से त्वचा पर नमी की कमी होती है जिससे त्वचा शुष्क एवं डॉयनेस हो जाती है !

2. ठंड के मौसम में क्या खाना चाहिए ? 

लोग ठंड से बचाव करने के लिए निम्न प्रकार के भोजन का सेवन करते है जैसे - भोज्य पदार्थ में - रोटी, दाल , पालक , ज्वार , बाजरा , मक्का , अंडा , मछली , सोयाबीन , चना , चौड़ाई आदि सभी प्रकार के भोज्य पदार्थ का सेवन ठंड से बचाव करने के लिए करते है !

3. ठंड के मौसम में जीवन शैली में किस प्रकार का बदलाव करना चाहिए ?

ठंड के मौसम में व्यक्ति को निम्न से बदलाव करना चाहिए जैसे - 

1. ठंड के मौसम में गर्म कपड़े जैसे - ऊनी कपड़े , सूती कपड़े और अधिक गर्म कपड़े का इस्तेमाल ठंड के दिन करना चाहिए !
2. प्रतिदिन 30 मिनट मॉर्निंग वॉक सभी व्यक्ति को करना चाहिए !
3. अधिक ऊर्जा प्रदान करने वाले भोजन का इस्तेमाल करना चाहिए !
4. मछली , अंडे , और सलाद का सेवन करना चाहिए !
5. फल और सब्जी का सेवन अधिक करना चाहिए !
6. गर्म पेय पदार्थ का सेवन करना चाहिए !
7. विटामिन डी एवं विटामिन डी जिसमे अधिक मात्रा में उपलब्ध हो उस प्रकार का भोजन करना चाहिए !

4. ठंड में किस प्रकार की बीमारी होती है ?

ठंड के मौसम में निम्नलिखित प्रकार की बीमारी होती है जैसे - सर्दी-जुकाम , खांसी , सिर दर्द , बुखार , शरीर दर्द आदि सभी प्रकार की बीमारी होती है !





No comments:

Powered by Blogger.