चुकंदर के फायदे क्या होते है ? - MyupChaars


 चुकंदर के 23 फायदे क्या होते है ?


चुकंदर ( Sugar Beets ) 

चुकंदर एक वनस्पति समूह मुसला जड़ वाली सब्जी एवं फल है जिसका वनस्पति नाम बीटा वल्गरिस होता है ! चुकंदर हर मौसम में असानी से मिलाने वाला वनस्पति पौधा है जो इसे मानव द्वारा सलाद , सब्जी , जूस , चेहरे के लिए पेस्ट आदि सभी में इसका उपयोग अधिक मात्रा में किया जाता है ! चुकंदर एक ऐसा वनस्पति पौधा है जो स्वास्थवर्द्धक ( स्वस्थ रहने ) के लिए अधिक मात्रा में इसका सेवन किया जाता है ! चुकंदर खाने में हल्का मीठा और लाल रंग का होता है चुकंदर कई रंग में और कई प्रकार के होते है जैसे - चॉकलेट कलर , सफेद , पीला आदि सभी रंग में होते है ! चुकंदर खाने से इसके अनेक प्रकार के फायदे होते है और आइये चुकंदर के बारे में विस्तार पूर्वक जानते है !


What is beetroot


चुकंदर क्या है ? ( What is beetroot ? )


चुकंदर एक तना वाला पौधा होता है जो इसकी लम्बाई सामान्यतः 35 से 90 सेंटी मीटर तक इसका पौधा होता है और इस पौधे की जड़ ( तना ) मिट्टी के अंदर 3 से 6 इंच तक होता है और चुकंदर गोलाकार की आकृति में होता है ! चुकंदर का पौधा पालक की पत्ती के समान और उसका डंठल हल्का लाल और गुलाबी कलर में होता है ! चुकंदर की खेती लगभग हर मौसम में की जा सकती है लेकिन इसका सही समय की बुआई अक्टूबर के महीने में की जाती है , चुकंदर की बुआई के 15 से 20 दिन के बाद यह तैयार हो जाता है और खाने योग्य हो जाता है ! 

चुकंदर खाने से इसके अनेक प्रकार के फायदे होते है जैसे - चुकंदर स्वास्थ के लिए अधिक लाभदायक होता है , वजन कम करने लिए , रक्त को बढ़ाने के लिए , ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में करता है , चेहरे पर ग्लो करने के लिए आदि अनेक प्रकार के फायदे होते है !

चुकंदर को हम सभी लोग इसे जूस , सलाद , सब्जी , अचार के रूप में हर मौसम में खाते है और चुकंदर भोजन को पचाने में अधिक मदद करता है , चुकंदर में विटामिन , प्रोटीन , आयरन , आदि सभी अधिक मात्रा में पाए जाते है !


चुकंदर कितने प्रकार के होते है ? ( What are the types of beet. )


चुकंदर एक ऐसा वनस्पति पौधा है जो इसके अनेक प्रकार के होते है , चुकंदर के प्रकार का वर्णन उसके कलर एवं स्वाद के अनुसार किया जाता है ! चुकंदर वैसे तो एक ही प्रकार का होता है लेकिन इसके कलर एवं स्वाद के अनुसार इसे निम्न प्रकार में बताया गया है !-----


चुकंदर के फायदे क्या-क्या होते है ? ( What are the benefits of sugar beet? )


सभी लोगो को पता है की चुकंदर के अनेक फायदे होते है पर क्या यह मालूम है की चुकंदर खाने से फायदे के साथ-साथ चुंकदर से नुकसान भी होता है !

चुकंदर का स्वाद पहले खाने में मीठा फिर थोड़ा अजीब लगता है इसका स्वाद हर फल एवं सब्जी से थोड़ा अलग होता है जो सभी लोग इसे खाना नहीं चाहते है पर चुकंदर खाने से अनेक फायदे होते है !चुकंदर में मौजूद तत्व जैसे - विटामिन ए , विटामिन सी , विटामिन डी , विटामिन बी 1 और विटामिन बी 12 पाया जाता है और चुंकदर में आयरन , कॅल्शियम , पौटेशियम , पोषक तत्व एवं आदि सभी तत्व अधिक मात्रा में पाए जाते है !


चुकंदर के फायदे अनेक प्रकार के होते है ! ( There are many types of benefits of beet.)


1. रक्त की कमी को पूरा करने के लिए चुकंदर के फायदे ( Benefits of Beetroot to Complete Blood Loss. )

आप सभी लोग भली-भाँति जानते है की चुंकदर सभी सब्जी एवं फलों में सबसे अच्छा और स्वास्थ के प्रति अधिक लाभदायक होता है चुकंदर में मौजूद तत्व विटामिन ,प्रोटीन ,वसा ,पोषक तत्व आदि सभी पदार्थ अधिक मात्रा में पाए जाते है जो शरीर में होने वाले कमी को पूरा करते है ! चुकंदर को सलाद के रूप में , कच्चा खाने में , जूस आदि सभी प्रकार के रूप में खाने से शरीर में होने वाली रक्त की कमी पूरा होती है और शरीर में किसी भी कमी को पूरा करने के लिए चुकंदर का सेवन जरूर करे !


2. एनीमिया के बीमारी को दूर करने में चुकंदर के फायदे ( Benefits of beetroot in curing anemia disease. )

एनीमिया की बीमारी होने पर शरीर में रक्त की कमी अधिक मात्रा में होती है जिससे शरीर में अनेक प्रकार की बीमारी का लक्षण धीरे-धीरे बढ़ने लगता है इस बीमारी के लक्षण और एनीमिया की बीमारी को कम करने के लिए डॉक्टर का भी सलाह यही होता है की इलाज के दौरान चुंकदर एनीमिया की बीमारी को ठीक करने में अधिक फायदेमंद होता है ! चुकंदर का सेवन सलाद और जूस के रूप में दिन में एक बार भी करने से इसके अनेक फायदे और रक्त की मात्रा को बढ़ाने में अधिक मदद करता है !


3. आंख की रोशनी बढ़ाने में चुकंदर अधिक फायदेमंद ( Beetroot is more beneficial in increasing eye light. 


आंख की रोशनी 45 से 50 वर्ष की आयु में कम होने लगता है ( महिला / पुरूष )  आंख की रोशनी कम होने का कारण निम्न प्रकार के होते है जिससे आंख की रोशनी समय से पहले ही कम होने लगती है ! आंख की रोशनी कम होने का कारण निम्नलिखित प्रकार का होता है जैसे - शरीर में होने वाली पोषक तत्व की कमी , सिर में चोट लगने के कारण , ब्लड की कमी , आंख पर लाइट का अधिक देर तक होना , मोबाइल , टीवी , योग न करना आदि सभी प्रकार के कारण आंख की रोशनी कम होने लगती है ! आंख की रोशनी बढ़ाने एवं वापस लाने के लिए कुछ एक्सपर्ट ने मिलकर यह दावा किया है की अगर आंख की रोशनी बढ़ाना है तो चुकंदर का जूस सुबह और शाम के सेवन करने से चुकंदर में मौजूद तत्व आंख की रोशनी को बढ़ाने में अधिक मदद करता है और शरीर की गतिविधियों में अधिक सुधार करता है !


4. चुकंदर रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में अधिक फायदेमंद ( Beet is more beneficial in increasing immunity. ) 

शरीर में रोग-प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने के कारण शरीर में बीमारी से लड़ने की क्षमता भी कमजोर हो जाती है जिससे शरीर में कई प्रकार की बीमारी होने लगती है ! शरीर में होने वाली बीमारी एवं रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए सिर्फ चुकंदर का सेवन करने से रोग-प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है और बीमारी से लड़ने में सुरक्षा प्रदान करती है !


5. वजन को कम करने के लिए चुकंदर फायदेमंद (Beetroot beneficial for reducing weight.)

अधिक खान-पान करने से वजन में तेजी से वृद्धि होने लगती है और कभी-कभी हैवी डोज का सेवन करने से भी वजन में तेजी से वृद्धि होने लगती है ! शरीर में होने वाले वजन और मोटापा को कम करने के लिए चुकंदर अधिक फायदेमंद होता है ! चुकंदर को बारीक पीसकर इसमें हरा पुदीना की कुछ पत्तियां डालकर इसका जूस बनाकर पीने से वजन तेजी से कम होता है , वजन को अगर कम समय में कम करना चाहते है तो इसका सेवन नियमित रूप से सुबह और शाम को खाना खाने के बाद करना चाहिए !


6. हड्डियों को मजबूत करने के लिए चुकंदर का सेवन ( Beet intake to strengthen bones. )

अधिक उम्र के व्यक्ति जिनकी उम्र 45 से 50 वर्ष वाले व्यक्ति की हड्डियां अक्सर कमजोर हो जाती है और हड्डी में किसी कारण से चोट लगना या कोई अनुवांशिक बीमारी के कारण हड्डी में दर्द एवं हड्डी का कमजोर होना होता है ! हड्डी के कमजोर होने से भिन्न-भिन्न प्रकार की समस्या होती है इस समस्या को कम करने के लिए चुकंदर अधिक फायदेमंद होता है और चुकंदर में मौजूद तत्व हड्डी को मजबूत करने में अधिक मदद करता है ! चुकंदर का सेवन दिन में एक बार जूस के रूप में सेवन करने से और चुकंदर का जूस निकालकर पैर की हड्डी में मालिश करने से हड्डी मजबूत होती है !


7. दर्द से राहत दिलाये चुकंदर ( Beet relieve pain. )

दर्द या फिर चोट लगने के कारण शरीर में कही-न कही दर्द करता है जिससे चलने-फिरने और उठने बैठने में दर्द अधिक होता है इस दर्द को कम करने के लिए चुकंदर को बारीक पीसकर और प्याज के टुकड़े को भी काटकर इसे हल्के आंच पर गर्म करके चोट वाली जगह पर लगाने से और इसे बांधकर रखने से दर्द कम होती है !


8. ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए चुकंदर फायदेमंद ( Beetroot is beneficial for reducing blood pressure. )

कम उम्र में ही ब्लड प्रेशर के मरीज अधिक होते जा रहे है , एक शोध के अनुसार बल्ड प्रेशर के मरीज के लिए चुंकदर का जूस पीने से बढ़े हुए बल्ड प्रेशर को कम करने के लिए चुकंदर का जूस अधिक फायदेमंद होता है !


9. भोजन के पाचन के लिए चुकंदर फायदेमंद ( Beetroot beneficial for food digestion. )


चुकंदर में मौजूद तत्व विटामिन , पोषक तत्व , मिनरल , सर्करा , पौटेशियम आदि सभी तत्व मिलकर भोजन को पचाने में अधिक सहायक होते है ! चुकंदर का सेवन खाना-खाने के बाद जूस के रूप में करने से या फिर चुकंदर का चूर्ण बनाकर इसका सेवन 2 चमच पानी के साथ करने से भोजन के पाचन में अधिक सहायक होता है !


10. चुकंदर तंत्रिका तंत्र को मजबूत करने में सहायक ( Aids in strengthening beet nervous system. )


एक शोध के अनुसार हाल ही में कुछ स्वास्थ एक्सपर्ट ने यह दावा किया है की समय के साथ और खान-पान , मानसिक तनाव के कारण तंत्रिका तंत्र कमजोर एवं अधिक प्रभावित होती है ! तंत्रिका तंत्र को मजबूत बनाये रखने में उन्होंने यह दावा किया है की चुंकदर में मौजूद तत्व तंत्रिका तंत्र को मजबूती प्रदान करने के लिए चुकंदर तंत्रिका तंत्र के लिए अधिक सहायक होता है ! चुकंदर का जूस दिन में एक बार के इस्तेमाल करने से तंत्रिका तंत्र को अधिक मजबूती प्रदान !


11.  बबासीर के लिए फायदेमंद चुकंदर ( Beet beneficial for piles. )


बबासीर के मरीजों के लिए चुकंदर अधिक फायदेमंद होता है , चुकंदर को बारीक पीसकर इसमें थोड़ी सी मात्रा में लौंग और गुड़ मिलाकर सेवन करने से बवासीर के मरीजों के लिए चुकंदर अधिक फायदेमंद होता है और बवासीर को ठीक करने में अधिक सहायक होता है !


12. पेट में जलन को कम करने में फायदेमंद चुकंदर ( Beet beneficial in reducing stomach irritation. )

पेट में जलन होने के कारण निम्नलिखित होते है जैसे - अधिक मिर्च-मसाले का सेवन , मींट-मछली का सेवन , पेट का खाली होना ( भोजन न करना ) , पाचन शक्ति कमजोर होना , हैवी भोजन का सेवन आदि सभी कारण पेट में जलन होता है ! पेट में जलन को कम करने के लिए चुकंदर अधिक फायदेमंद होता है , चुकंदर को बारीक पीसकर खाना-खाने के बाद इसका सेवन करने से भोजन के पाचन और पेट के जलन को कम करने के लिए अधिक फायदेमंद होता है ! 


13. चुकंदर हृदय रोग के लिए फायदेमंद ( Beet is beneficial for heart disease.)

चुकंदर में मौजूद तत्व हृदय रोग के लिए औषधीय का काम करता है ! चुकंदर को बारीक पीसकर इसमें दो टुकड़ा बदाम का डालकर पीने से हृदय रोग को ठीक करने में अधिक फायदेमंद होता है !


14.  त्वचा पर निखार के लिए फायदेमंद चुकंदर ( Beet beneficial for skin whitening. )


त्वचा पर निखार पाने के लिए चुकंदर को बारीक पीसकर इसमें थोड़ी मात्रा में एलोवेरा का सफेद लुगदी डालकर इसे थोड़ी देर तक मिलाए और इसे त्वचा पर लगाए फिर इसे 30 मिनट बाद हल्का गुनगुना पानी से धुले ऐसा करने से त्वचा पर निखार बढ़ती है !


15. खांसी से दिलाये राहत चुकंदर ( Beet relieved from cough. )


चुकंदर को बारीक पीसकर इसमें मौजूद रस को अलग करके किसी पात्र में रखकर इसके साथ लौंग और इलायची का एक टुकड़ा डालकर इसे 15 मिनट तक उबाल कर चाय की तरह पीने से खांसी से राहत मिलती है !


16. मसूड़ों का कमजोर होना चुकंदर से राहत ( Weakness of gums relieves beetroot. )


मसूड़ो का कमजोर होना इसके निम्नलिखित कारण होते है जैसे - पायरिया रोग , कैल्सियम की कमी , ब्रश से दांत साफ न करना , दांतों में सड़न आदि सभी प्रकार के कारण से मसूड़ों का कमजोर होना होता है ! मसूड़ों का कमजोर होने का लक्षण जैसे - मसूड़े से रक्त स्राव , मसूड़े का दर्द करना , किसी पदार्थ को खाने से मसूड़े का दर्द करना आदि प्रकार के लक्षण होते है ! मसूड़ों के कमजोर होने से चुकंदर अधिक फायदेमंद होता है और चुकंदर में मौजूद तत्व मसूड़ों को ठीक करने में अधिक फायदेमंद होता है ! चुकंदर का जूस दिन में एक बार पीने से मसूड़े में होने वाली सभी प्रकार की समस्या दूर होती है !


17. गर्भवती महिला के लिए चुकंदर फायदेमंद ( Beetroot beneficial for pregnant woman. )


गर्भवती महिला के लिए चुकंदर अधिक फायदेमंद होता है ! चुकंदर में मौजूद तत्व जैसे - विटामिन , कैल्शियम , आयरन , फॉलिक एसिड , पोषक तत्व आदि सभी तत्व अधिक मात्रा में पाए जाते है ! गर्भवती महिला बच्चे के जन्म के समय महिला में होने वाली तत्व की कमी अधिक जैसे - कैल्शियम , आयरन , फॉलिक एसिड , पोषक तत्व आदि बच्चे के जन्म के समय कम होती है ! गर्भवती महिला बच्चे के जन्म के समय तत्वों की कमी होती है इस कमी को पूरा करने के लिए चुकंदर अधिक फायदेमंद बताया गया है और चुकंदर का सेवन करने से होने वाले कमी को दूर किया जा सकता है !


18. चुकंदर के सेवन से बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण में ( Control of increased cholesterol due to beet intake. )


शरीर में कुछ ऐसे भी कोलेस्ट्रॉल होते है जो शरीर के लिए अधिक नुकसान दायक होते है ! बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल के लिए चुकंदर का जूस पीने से कोलेस्ट्रॉल नियत्रंक में होता है ! चुकंदर का जूस दिन में एक बार का सेवन करने से चुकंदर का जूस कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए अधिक फायदेमंद होता है !


 19. चुकंदर बाल की सभी समस्या से छुटकारा दिलाए (Get rid of all problem of beet hair. )


चुंकदर बाल में होने वाली सभी प्रकार की समस्या से दिलाये छुटकारा ! चुकंदर में मौजूद तत्व जैसे - मैगनीज , पोटैशियम , बॉयोटिन , फॉलिक एसिड , विटामिन B1 से B12 , विटामिन C आदि सभी तत्व अधिक मात्रा में पाए जाते है ! चुकंदर को बारीक पीसकर और इसके साथ दही को मिलाकर सिर पर लगाने से बाल में होने वाली सभी प्रकार की समस्या दूर होती है ! चुकंदर सिर दर्द , रूसी , बाल के लिए अधिक फायदेमंद होता है !


20.  पीरियड के दर्द से राहत एवं फायदेमंद चुकंदर ( Relief from period pain and beneficial beet. )


महिलाओं के पीरियड के समय शरीर में अधिक दर्द और पेट में भी दर्द हर समय रहता है ! महिलाओं में होने वाले पीरियड के दौरान अधिक दर्द होता है इस दर्द को कम करने के लिए चुकंदर अधिक फायदेमंद होता है ! चुकंदर को बारीक पीसकर इसमें गुड़ मिलाकर इसे 10 मिनट तक उबाल करे और फिर चाय की तरह दिन में 2 से 3 बार पीना चाहिए जो पीरियड के दर्द से राहत मिले !


21. कमजोर DHT के लिए फायदेमंद चुकंदर ( Beet beneficial for weak DHT )


सिर के बाल को पूर्ण रूप से मरम्मत एवं देखभाल न करने से बाल कमजोर एवं सफेद होने लगते है और धीरे-धीरे सिर के बाल झड़ने लगते है ! बाल की देखभाल एवं बाल की मरम्मत करने के लिए सिर के बाल को पोषक तत्व , विटामिन , बायोटिन की आवश्यकता होती है ! इन सभी तत्वों को पूरा करने के लिए चुकंदर का जूस अधिक फायदेमंद होता है !  


22.  कैंसर के लिए फायदेमंद चुकंदर ( Beet beneficial for cancer. )


कैंसर की बीमारी अधिक समय तक रहता है और अगर इसका इलाज पूर्ण रूप से न किया जाये तो यह बीमारी जानलेवा हो सकती है ! कैंसर की बीमारी को ठीक करने लिए एंटीऑक्सीडेंट की आवश्यकता होती है और साथ में कुछ पोषक तत्व की भी आवश्यकता होती है इस आवश्यकता की पूर्ति के लिए चुकंदर अधिक फायदेमंद होता है और चुकंदर में अधिक मात्रा में सभी तत्व पाए जाते है जो किसी भी बीमारी के लिए चुकंदर का सेवन करना फायदेमंद होता है ! 


23. चुकंदर यौन शक्ति को बढ़ाने में अधिक कारगर ( Beet is more effective in increasing sexual strength. )


चुकंदर महिलाओं और पुरूषों के यौन शक्ति को बढ़ाने में अधिक फायदेमंद होता है , चुकंदर का जूस और साथ में केसर को मिलाकर इसका सेवन करने से यौन शक्ति बढ़ती है !


चुकंदर का सेवन कैसे करे ? ( How to eat beet? )

चुकंदर का सेवन सभी लोग अपने जीवन शैली में निम्नलिखित प्रकार से करते है !


1. चुकंदर का सेवन कच्चा - चुकंदर का सेवन सभी लोग इसे खाने में इसका सेवन कच्चा और काटकर इसे खा सकते है , चुकंदर को कच्चा खाने से इसके बहुत से फायदे होते है !


2. सलाद - चुकंदर का सेवन हम सभी लोग इसे सलाद के रूप में हर मौसम में इसका सेवन खाने के साथ करते है !


3. चुकंदर का सेवन जूस - चुकंदर का ( रस निकालकर ) जूस के रूप में सुबह-शाम को किया जा सकता है !


4. चुकंदर का सेवन जैम या अचार - चुकंदर को बारीक काटकर इसका अचार बनाकर सेवन किया जा सकता है या चुकंदर को बारीक पीसकर इसमें चीनी मिलाकर इसका जैम बनाकर सेवन किया जा सकता है !


5. चुकंदर का सेवन सब्जी बनाकर - चुंकदर का सेवन सब्जी के रूप में किया जा सकता है !


चुकंदर का सेवन करने से नुकसान क्या होता है ?

चुकंदर का सेवन करने से निम्नलिखित प्रकार के नुकसानदायक हो सकता है !


1. इसका सेवन अधिक करने से यह पाचन शक्ति को प्रभावित कर सकती है !

2. त्वचा को प्रभावित कर सकती है !

3. चुकंदर हृदय के गति में परिवर्तन कर सकता है !

4. चुकंदर के जूस में अधिक मात्रा में एसिड होता है जो पेट में होने वाले पाचन को कमजोर कर सकता है जिससे मल का पतलापन या पानी ( दस्त ) जैसे हो सकता है !


चुकंदर से पूछे जाने वाले सवाल-जवाब ( FAQ ) 


चुकंदर से निम्नलिखित प्रकार के सवाल जवाब जो अक्सर पूछे जाते है !

Q. 1. क्या चुकंदर स्वास्थ के प्रति लाभदायक होता है ?

ANS -  जी हाँ चुंकदर स्वास्थ के प्रति अधिक लाभदायक एवं फायदेमंद होता है क्योंकि चुकंदर में मौजूद तत्व स्वास्थ के प्रति लाभदायक होता है !


Q. 2. क्या चुकंदर में कई प्रकार के विटामिन मौजूद होते है ?

ANS - जी हाँ चुकंदर में कई प्रकार के विटामिन एवं पोषक तत्व मौजूद होते है जैसे - विटामिन A , फॉलिक एसिड , प्रोटीन , वसा , शर्करा आदि सभी तत्व अधिक मात्रा में मौजूद होते है !


Q. 3. चुकंदर का सेवन कैसे किया जा सकता है ?

ANS - चुकंदर का सेवन निम्न प्रकार से किया जा सकता है जैसे - सलाद , सब्जी , जूस अदि सभी रूप में किया जा सकता है !


Q. 4. चुकंदर का सेवन कब करने से यह अधिक फायदेमंद होता है ?

ANS - चुकंदर का सेवन वैसे करने में अधिक फायदेमंद होता है लेकिन चुकंदर का सेवन मार्च के महीने में करने से यह अधिक फायदेमंद होता है !


Q. 5. क्या चुकंदर का सेवन त्वचा पर किया जा सकता है ?

ANS - जी हाँ चुकंदर का सेवन पेस्ट बनाकर त्वचा पर निखार पाने के लिए किया जा सकता है !


Q. 6. क्या चुकंदर चोट एवं दर्द के लिए फायदेमंद होता है ?

ANS - जी हाँ यह चोट एवं दर्द के लिए फायदेमंद एवं दर्द को कम भी करता है ! चुकंदर को बारीक पीसकर इसे गर्म करके चोट वाली जगह पर लगाने से इसके फायदे होते है !



 

No comments:

Powered by Blogger.